Friday, March 16, 2012

सवाल...

जमाना उससे पूछता था 
कुछ अनसुलझे सवाल  
जवाब वो देता नहीं
खोया सा चलता था, लेकर एक ख्याल |
 
क्या इन लोगो का भी सबकुछ
उसी रास्ते पर लुट गया
जहाँ  चोर बेगानों को नही
अपनों को ही लूटा करते है
जहाँ अकेला पाते ही लोग
सवाल लेकर टूटा करते है |

वो सवाल जो उसके लिए कीमती
पर दूसरो के लिए व्यर्थ है
जवाब तो है उसके गूड़
पर जमाने के लिए बेअर्थ  है |

सब कुछ तो लुट गया
कुछ नही उसके पास, अब गवाने को
मत छीनो उससे जवाब
कुछ तो रहने दो, मन बहलाने को |

20 comments:

  1. सब कुछ तो लुट गया
    कुछ नही उसके पास, अब गवाने को
    मत छीनो उससे जवाब
    कुछ तो रहने दो, मन बहलाने को |

    बहुत सुंदर प्रस्तुति,अच्छी रचना.....
    आपका फालोवर बन गया हूँआप भी बने मुझे खुशी होगी,...
    पोस्ट में आने के लिए आभार,....

    ...काव्यान्जलि ...: तब मधुशाला हम जाते है,...
    कमेंट्स बाक्स से वर्डवेरीफिकेसन हटा ले,कमेंट्स करने में परेसानी एवं समय बर्बाद होताहै,...

    ReplyDelete
  2. बहुत खूब लिखा है

    कृपया वर्ड वेरिफिकेशन हटा लें ...टिप्पणीकर्ता को सरलता होगी ...
    वर्ड वेरिफिकेशन हटाने के लिए
    डैशबोर्ड > सेटिंग्स > कमेंट्स > वर्ड वेरिफिकेशन को नो NO करें ..सेव करें ..बस हो गया

    ReplyDelete
  3. bahut khoobsoorat, saral aur gehri rachna !

    ReplyDelete
  4. beautiful ....thanks for sharing

    ReplyDelete
  5. ,सुंदर रचना बधाई

    ReplyDelete
  6. मैं कभी भी सवालों से दूर भागा हूँ नही
    इस लिए ही अंधेरों से दूर भागा हूँ नही
    पर अँधेरे का कलेजा प्रश्न ही हैं चीरते
    प्रश्न के बिन रौशनी के साथ भागा हूँ नही ||
    bhut 2 bdhai

    ReplyDelete
  7. WOW! Superb! Quite expressive..I loved every line of this poem. मत छीनो उससे जवाब
    कुछ तो रहने दो, मन बहलाने को |...Loved these line very much:)

    Keep writing Ruchi Ma'am!

    ReplyDelete
  8. So amazingy put! :) Love the last para!

    Your new follower :)

    ReplyDelete
  9. मत छीनो उससे जवाब
    कुछ तो रहने दो, मन बहलाने को |waah.....

    ReplyDelete
  10. Lovely ! Top notch ! You must write more...

    PS- please put up "follow by email" option on your blog please. Would like to get notifications in case you write something new right in my inbox :) THanks in advance

    ReplyDelete
  11. expressive lines ..and keep writing:)

    ReplyDelete
  12. बहुत ही सुन्दर रचना...

    ReplyDelete
  13. मत छीनो उससे जवाब
    कुछ तो रहने दो, मन बहलाने को |waah.....सूबसूरत

    ReplyDelete